What is the full form of KYC?

What is the full form of KYC?

KYC का FULL Form is Know Your Customer है। KYC एक कंपनी की विधि है जो ग्राहक की पहचान की पुष्टि करती है और आपराधिक इरादों से व्यावसायिक संबंधों(business relationship) के संभावित जोखिमों का आकलन करती है। नाम का उपयोग बैंकों के नियमों और ऐसी गतिविधियों को नियंत्रित करने वाले धन-शोधन-विरोधी नियमों(anti-money laundering regulations) से संबंधित होने के लिए भी किया जाता है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने वित्तीय धोखाधड़ी, जैसे पहचान की चोरी, मनी लॉन्ड्रिंग(Money laundering) और अवैध लेनदेन(illegal transactions) से बचने के लिए KYC प्रक्रिया को अपनाया।

Object of KYC

KYC दिशानिर्देश(guidelines) बैंकों को मनी लॉन्ड्रिंग गतिविधियों(money laundering activities) के लिए जानबूझकर या अनैच्छिक(involuntarily) रूप से आपराधिक नेटवर्क(criminal networks) का उपयोग करने से रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा, KYC बैंकों को ग्राहकों और वित्तीय लेनदेन के साथ संवाद करने में मदद करता है। इससे उन्हें अपने जोखिमों को सावधानी(carefully) से संभालने में मदद मिलती है। आज KYC को न केवल बैंक बल्कि विभिन्न ऑनलाइन कंपनियां भी लागू कर सकती हैं।

 

RBI ने बैंकों को खाता खोलने के दौरान KYC प्रक्रिया को लागू करने की सिफारिश की है। यह ग्राहकों को उन scammers से बचाता है जो अपने नाम, पते और जाली संकेतों का उपयोग करके धोखाधड़ी की गतिविधि कर सकते हैं। इसलिए, बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों के ग्राहकों को प्रामाणिक जानकारी प्रदान करनी चाहिए ताकि बैंक ग्राहकों की संतुष्टि को पहचान सकें और उसमें सुधार कर सकें।

यहां एक आवश्यक दस्तावेज है जो पहचान प्रमाण और पते के प्रमाण के रूप में कार्य कर रहा है

  • Passport
  • Voter ID card
  • Driving Licence
  • PAN card
  • Aadhaar Card

यदि आपके द्वारा पहचान प्रमाण के लिए प्रदान किए गए दस्तावेज़ में पते का विवरण नहीं है, तो आप एक अन्य कानूनी रूप से मान्य दस्तावेज़ भेज सकते हैं जिसमें पते का विवरण हो जैसे बिजली बिल, गैस बिल टेलीफोन बिल, आदि।

What Is The Importance OF KYC?

KYC आवश्यक है क्योंकि यह banker को यह सुनिश्चित करने में मदद करता है कि अनुरोध और अन्य विवरण वास्तविक(real) हैं। चोरी और खातों की राशि के गबन के मामले सामने आए हैं। यह व्यक्तियों की पहचान को बनाए रखते हुए धोखाधड़ी को रोकने में मदद करेगा। उपभोक्ता को जानिए दृष्टिकोण कई वर्षों से प्रचलन(vogue) में है। यह एक जरूरी है और सभी व्यक्तियों को इसका पालन करना चाहिए यदि वे खाता खोलने का निर्णय लेते हैं। KYC अनुपालन के बिना बैंक खाता या म्यूचुअल फंड(mutual fund) खाता खोलना आसान नहीं है।

Who Needs KYC?

KYC वित्तीय संस्थानों(financial institutions) और अन्य संबंधित व्यवसायों के लिए एक अनिवार्य अभ्यास है। कंपनियों को नियमों का पालन करना चाहिए या अधिकारियों से जुर्माना या दंड का सामना करना पड़ सकता है। उद्यमों के कुछ उदाहरण निम्नलिखित हैं जिन्हें KYC को शामिल करने की आवश्यकता है

  • Real estate business
  • Banks and their respective subsidiaries
  • E-commerce
  • Dealers of precious metals
  • Insurance companies
  • Casinos and online gaming
  • Virtual currency businesses

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*