राजस्थान की प्रसिद्ध छतरियां

राजस्थान की प्रसिद्ध छतरियां

राजस्थान की प्रसिद्ध छतरियां

Hello friends, राजस्थान की प्रसिद्ध छतरियां in this post today we will full discuss in detail the Famous chhatris of Rajasthan. Students also search rajasthan ki parsidh chhatriya list pdf and 32 khambho ki chhatri.  The examinee who are preparing themselves often search rajasthan me 84 khambho ki chhatri and 16 khambho ki chhatri kanha hai. He is also search naida ki chhatri.The questions are often asked in the Rajasthan State Level Examinations like RAS, Rajasthan High Court, Rajasthan Patwari, Rajasthan Police examination from the Famous chhatris of Rajasthan.

राजस्थान की प्रसिद्ध छतरियां

राजस्थान की प्रसिद्ध छतरियां निम्नलिखित है

गैटोर की छतरियां:-

नाहरगढ़ (जयपुर) में मौजूद इस छतरी को गैटोर की छतरी के नाम से जाना जाता है।

ये कछवाहा शासको की प्रसिद्ध छतरियां है।

यह जयसिंह द्वितीय से लेकर मानसिंह द्वितीय की छतरियां है।

बड़ा बाग की छतरियां:-

यह छतरियां जैसलमेर में स्थित है।

यहां भाटी शासकों के द्वारा निर्मित छतरियां है।

क्षारबाग की छतरियां:-

यह छतरियां कोटा में स्थित है।

यह हाड़ा शासकों के द्वारा निर्मित छतरियां  है।

देवकुण्ड की छतरियां:-

रिड़मलसर (बीकानेर) में यह छतरियां स्थित है।

राव बीकाजी व रायसिंह के द्वारा निर्मित प्रसिद्ध छतरियां  है।

छात्र विलास की छतरी:-

यह छतरियां कोटा में स्थित है।

केसर बाग की छतरी:-

यह छतरियां बूंदी में स्थित है।

जसवंत थड़ा:-

यह छतरियां जोधपुर में स्थित है।

यह छतरियां सरदार सिंह द्वारा निर्मित है।

रैदास की छतरी:-

यह छतरी चित्तौड़गढ में स्थित है।

गोपाल सिंह यादव की छतरी:-

यह छतरियां करौली में स्थित है।

8 खम्भों की छतरी:-

यह छतरी बांडोली (उदयपुर) में स्थित है।

यह वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की विश्व प्रसिद्ध छतरी है।

32 खम्भो की छातरी:-

राजस्थान में दो स्थानों पर 32-32 खम्भों की छतरियां स्थित है है उनमें से यह एक है।

मांडल गढ (भीलवाड़ा) में स्थित यह छतरी 32 खम्भों की छतरी है इसका संबंध जगन्नाथ कच्छवाहा से है।

रणथम्भौर (सवाई माधोपुर) में स्थित दूसरी 32 खम्भों की छतरी राणा हम्मीर देव चैहान की छतरी है।

80 खम्भों की छतरी:-

यह छतरी अलवर में स्थित हैं

यह छतरी मूसी महारानी से प्रत्यक्ष संबंध रखती है।

84 खम्भों की छतरी:-

यह छतरी बूंदी में स्थित है।

यह छतरी महाराजा अनिरूद जी की माता जी की प्रसिद्ध छतरी है।

यह छतरी भगवान शिव को पूर्णत समर्पित है।

16 खम्भों की छतरी:-

यह छतरी नागौर में स्थित हैं

यह राजा अमर सिंह की प्रसिद्ध छतरी है। ये राठौड वंश के राजा थे।

टंहला की छतरीयां:-

यह छतरियां अलवर क्षेत्र में स्थित हैं।

आहड़ की छतरियां:-

यह छतरियां उदयपुर में स्थित हैं

इन छतरियों को महासतियां भी कहा जाता है।

राजा बख्तावर सिंह की छतरी:-

यह छतरी अलवर जिले में स्थित है।

राजा जोधसिंह की छतरी:-

यह छतरी बदनौर (भीलवाडा) में स्थित है।

मानसिंह प्रथम की छतरी:-

यह छतरी आमेर (जयपुर) में स्थित है।

06 खम्भों की छतरी:-

यह छतरी लालसौट (दौसा) में स्थित है।

गोराधाय की छतरी:-

यह छतरी जोधपुर में स्थित हैं।

यह छतरी महाराजा अजीत सिंह की धाय मां की छतरी है।

गेटोर की छतरियां:-

यह छतरियां नाहरगढ़ (जयपुर) में स्थित है।

ये कछवाहा शासको की प्रसिद्ध छतरियां है।

जयसिंह द्वितीय से मानसिंह द्वितीय तक की छतरियां मौजूद है।

बड़ा बाग की छतरियां:-

यह छतरियां जैसलमेर में स्थित है।

यहां भाटी शासकों की प्रसिद्ध छतरियां स्थित है।

क्षारबाग की छतरियां:-

यह छतरियां कोटा में स्थित है।

यह हाड़ा शासकों की प्रसिद्ध छतरियां स्थित है।

देवकुण्ड की छतरियां:-

यह छतरियां रिड़मलसर (बीकानेर) में स्थित है।

यह छतरियां महाराजा राव बीकाजी व रायसिंह की  प्रसिद्ध छतरियां है।

छात्र विलास की छतरी:-

यह छतरियां कोटा में मौजूद है।

केसर बाग की छतरी:-

यह छतरियां बूंदी में मौजूद है।

जसवंत थड़ा:-

यह जोधपुर में मौजूद है।

यह छतरियां सरदार सिंह द्वारा बनवाई गई है।

I  hope you have liked this post Famous chhatris of Rajasthan, in this post will cover charbaag ki chhatri and 36 khambho ki chhatri kanha par sthit hai, people also search ghas phus ki chhatri kanha par sthit hai , I hope you have cleared your all doubts.

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए यहां क्लिक करें :– Click Here

राजस्थान में वन सम्पदा Quiz Start :- Click Here

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*