राजस्थान के प्रमुख महल

राजस्थान के प्रमुख महल

Table of Contents

राजस्थान के प्रमुख महल

Hello friends, राजस्थान के प्रमुख महल in this post today we will full discuss in detail the palaces of Rajasthan. Students also search rajasthan ke parsidh mahal and rajasthan me dusra hawamahal kaha par hai.  The examinee who are preparing themselves often search rajasthan ke parmukh mahal pdf and rajasthan ke mahal questions . He is also search rajasthan ke parmukh smark.The questions are often asked in the Rajasthan State Level Examinations like RAS, Rajasthan High Court, Rajasthan Patwari, Rajasthan Police examination from the palaces of Rajasthan.

राजस्थान के प्रमुख महल

राजस्थान के प्रमुख महल निम्न लिखित है-

जयपुर:-

जयपुर की स्थापना – 18 नवम्बर, 1727 को की गई थी, कच्छवाहा वंश के नरेश सवाई जय सिंह द्वितीय द्वारा की गई।उपनाम- “भारत का पेरिस” “गुलाबी नगर” “रंग श्री को द्वीप  (Island of Glory)जयपुर के उपनाम है

हवामहल:-

यह 953 खिडकियों वाला भव्य महल है।1799 ईसवी में सवाई प्रताप सिंह ने इसे बनवाया।पांच मंजिला इस इमारत को उस्ताद लालचंद कारीगर ने डिज़ाइन किया था।मंजिलों के नाम शरद मंदिर, रत्नमंदिर,विचित्र मंदिर, प्रकाश मंदिर हवा मंदिर है।

मुबारक महल:-

यह अतिथि गृह (स्वागत महल) अतिथियों के लिए था।इसका निर्माण सवाई माधोसिंह ने करवाया था।

चन्द्र महल:-

इसका निर्माण सवाई जयसिंह द्वितीय ने करवाया था।इसका वास्तुकार व मुख्य डिजाइनर विद्याधर था।

सामोद भवन:-

यह चैंमू (जयपुर) में स्थित है। यह महल चित्रकला के लिए प्रसिद्ध भवन है।

जल महल:-

यह महल मानसागर झील (जयपुर) में स्थित है।

आमेर के महल (दीवाने- आम):-

इसका निर्माण कछवाहा वंश के राजा मानसिंह प्रथम न1592 ईसवी में करवाया।यह महल मावठा झील (जयपुर) के किनारे अस्तित्व में है।

शीश महल (दीवाने खास):-

इस महल को महाकवि बिहारी ने इन्हें “दर्पण धाम” भी कहा है।

नाहरगढ के नौ महल:-

यह महल नाहरगढ दुर्ग (जयपुर) में स्थित है।

जोधपुर:-

जोधपुर की स्थापना  12 मई 1459 को राव जोधा द्वारा की गई थी  इसके अन्य उपनाम “मरूस्थल का प्रवेश द्वार” “सूर्य नगरी ” महरानगढ़ दुर्ग में स्थित महल

मोती महल:- यह जोधपुर में स्थित है।

फतेह महल:- यह जोधपुर में स्थित है।

चैखेलाल महल:- यह जोधपुर में स्थित है।

फूल महल:-

फूल महल जोधपुर के महाराजा अभयसिंह द्वारा बनवाया गया।

राइका बाग पैलेस:-

इसको महाराजा जसवंत सिंह ने निर्मित करवाया था।स्वामी दयानंद सरस्वती ने यहां पर उपदेश दिए थे।

बीजोलाई महल:-

इसको महाराजा तख्त सिंह ने निर्मित करवाया है।

एक थम्बा महल:-

यह मंडौर क्षेत्र (जोधपुर) में स्थित तीन मंजिला भवन है।यह भवन प्रहरी मीनार के नाम से प्रसिद्ध भी है।इसका निर्माण राजाअजीत सिंह ने करवाया था।

उम्मेद भवन:-

इस भवन को महाराजा उम्मेद सिंह ने अकाल राहत कार्यो के तहत् (1929-1940) निर्मित करवाया था।निर्माण में छित्तर अयस्क पत्थर प्रयुक्त होने के कारण यह छित्तर पैलेस भी कहलाता है।

जैसलमेर:-

जैसलमेर का निर्माण महाराजा जैसल के पुत्र शालीवाहन द्वितीय के समय में पूर्ण हुआ था। पुराने नाम- “माड़धरा” “वल्ल मण्डल”, मुख्य उपनाम- “झरोखों का शहर” है।

बादल विलास महल:-

यह महल सोनारगढ़ दुर्ग में स्थापित महल है।

जवाहर विलास महल:- यह महल जैसलमेर में स्थित है।

डूंगरपुर:-

डुंगरपुर की स्थापना  सन् 1356 ईसवी में रावल वीर सिंह ने भिलों के सरदार डूंगरिया को पराजित कर के इस नगर को स्थापित किया। इसका अन्य उपनाम – “पहाडियों का नगर” भी है।

एक थम्बिया महल:-

यह महल गेप सागर झील के तट पर निर्मित है।

उदय विलास पैलेस:-

उदय विलास पैलेस महाराजा उदयसिंह द्वारा निर्मित आकर्षक महल है।

बूंदी:-

बूंदी का अन्य उपनाम “छोटी काशी” “बावडि़यों का शहर” भी कहा जाता है।

सुखमहल:-

सुख्महल का निर्माण राजा विष्णु सिंह द्वारा करवाया गया।यह महल जैत सागर झील के तट पर निर्मित  है।

कोटा:-

यहां पर कोटिया भील के नाम पर इस स्थान का नाम कोटा रखा गया है। कोटा के अन्य उपनाम  “राजस्थान का कानपुर” “उद्यानों का नगर” “औद्योगिक नगरी” “शिक्षा का तीर्थ स्थल” भी है।

गुलाब महल:-

गुलाब महल यह कोटा दूर्ग में स्थित है।

अबला मीणी का महल:-

अबला मणि का महल राव मुकुन्द सिंह द्वारा निर्मित महल है। यह महल दर्रा अभ्यारण्य में स्थित है।

अभेड़ा महल:- यह महल कोटा जिले में स्थित है।

छत्र विलास/ जग मंदिर:-

जग मन्दिर महल का निर्माण महारानी बृजकंवर द्वारा 1140 ईसवी में करवाया गया था।यह भवन किशोर सागर झील में स्थापित है।

झालावाड़:-

झालावाड़ की स्थापना – इस राज्य का निर्माण झाला जालिम सिंह व अंग्रेजो के बीच हुई एक संधि के परिणाम स्वरूप हुआ था। झालावाड़ के अन्य उपनाम – “राजस्थान का नागपुर” है।

काष्ट प्रसाद:-

इसको देहरादून की वन शोध संस्थान द्वारा निर्मित करवाया गया।यह किशनसागर झील (झालावाड़) के तट पर स्थित है।इसे रैन बसेरा भी कहते है।

भरतपुर:-

भरतपुर के अन्य उपनाम  “राजस्थान का प्रेवश द्वार” भी है।

डीग के जल महल:-

डीग के जल महलों को  सूरजमल जाट ने निर्मित करवाया।डीग को जलमहलों की नगरी भी कहा जाता है।

डीग के महल:-

डीग के महलों को  बदन सिंह ने बनवाया था ।

उदयपुर:-

उदयपुर की स्थापना:- सन् 1559 ईसवी में महाराजा उदयसिंह ने इस नगर को स्थापित किया था । उदयपुर के अन्य उपनाम – “राजस्थान का कश्मीर” “भारत का दूसरा कश्मीर” “पूर्व का वेनिस” “झीलों की नगरी” भी कहा जाता है।

जग निवास:-

महाराणा जगत सिंह द्वितीय ने इस महल को सन् 1746 ईसवी में बनवाया था। वर्तमान में इस महल में लैक पैलेस होटल संचालित है।

जग मंदिर:-

इस महल को महाराणा कर्णसिंह ने सन्1620 ईसवी  में निर्माण कार्य शुरू करवाया तथा जगत सिंह प्रथम ने 1651 ईसवी में पूर्ण करवाया गया था।जग मंदिर व जग निवास महल पिछौला झील में स्थापित है।

राजमहल:-

प्रसिद्ध अंग्रेज इतिहासकार फ्रग्युस्न ने इन्हें राजस्थान के विण्डसर महलों की संज्ञा दी।ये महल पिछौला झील के किनारे पर बने है।

सिरोही:-

सिरोही की स्थापना – देवड़ा राजा रायमल के पौत्र व शिवभान के पुत्र ने सन् 1425 ईसवी में सिरोही नगर की स्थापना की। सिरोही के अन्य उपनाम – अर्बुद प्रवेश  है।

केसर विलास:- यह महल सिरोही में स्थित है।

स्वरूप विलास:- यह महल सिरोही जिले में स्थित है।

बीकानेर:-

बीकानेर की स्थापना – राव जोधा के पुत्र राव बीका ने इस नगर को स्थापित किया था। बीकानेर के अन्य उपनाम – राती घाटी ,ऊन का घर,जागंल प्रदेश है।

लालगढ़ महल:-

कलयुग के भगीरथ के नाम से विख्यात महाराजा गंगासिंह ने अपने पिता लालसिंह की स्मृति में इस महल को निर्मित करवाया।

अजमेर:-

अजमेर नगर की स्थापना  चैहान राजा अजयराज (अजयपाल) ने सन् 1113 ईसवी में की। अजमेर नगर के अन्य उपनाम – राजस्थान का ह्रदय, भारत का मक्का,राजपूताना की कुंज्जी भी है।

राजपूताना म्यूजियम:-

मेग्जीन दुर्ग का उपयोग 1908 ईसवी से राजकीय संग्रहालय के रूप में हो रहा है इसका अन्य नाम राजपूताना म्यूजियम है।

भीलवाडा:-

“भिलाड़ी टकसाल “के कारण इसका नाम भीलवाड़ा पड़ गया। भीलवाड़ा के अन्य उपनाम- “राजस्थान का मैनचेस्टर” “तालाबों का शहर”‘ “टैक्सटाइल सिटी” “वस्त्र नगरी” भी है।

बनेड़ा महल:-

यह बनेड़ा दुर्ग में स्थापित है।

अलवर:-

अलवर की स्थापना – अलवर की स्थापना राव प्रतापसिंह ने1770 ईसवी में की । अलवर के अन्य उपनाम- राजस्थान का सिंह द्वार, पूर्वी राजस्थान का कशमीर , राजस्थान का स्काॅटलैण्ड भी मुख्य है।

अलवर पैलेस (सिटी पैलेस):-

अलवर पैलेस का निर्माण विनय सिंह द्वारा करवाया गया था।

चित्तौड़गढ:-

माना जाता है कि इसकी स्थापना सिसोदिया वंश के रावल बपपा ने की थी । चितौड़गढ़ के अन्य उपनाम – राजस्थान का गौरव, खिज्राबाद है

फतह प्रकाश महल:-

इस महल को मेवाड़ के महाराणा फतेह सिंह ने निर्मित करवाया।यह महल चित्तौडगढ दुर्ग में स्थापित है।

पद्मनी महल:-

पद्मिनी महल चित्तौडगढ दुर्ग में स्थित है।

राजसमंद:-

राजस्थान  सरकार द्वारा 10 अप्रैेल 1991 को उदयपुर से अलग कर इसे नवनिर्मित जिला घोषित किया गया। राजसमंद का प्राचीन नाम – राजनगर था।

झाली रानी का मालिया:-

यह महल कुम्भलगढ़ दुर्ग (राजसमंद) में स्थित महल है।

झुनझुनू:-

सन् 1451 से 1488 के मध्य झूझा नामक जाट शासक के नाम पर झुनझुनू बसाया गया। झुंझुनू के अन्य उपनाम – शेखावटी का सिरमौर है।

खेतड़ी महल:-

झुनझुनू नगर में स्थित इस महल को राजा भोपाल सिंह ने निर्मित करवाया था। इस महल को राजस्थान का दूसरा हवामहल भी कहा जाता है।

टोंक:-

टोंक के अन्य उपनाम – नवाबों का शहर भी है।

राजमहल:-

यह महल बनास नदी के किनारे पर बना हुआ है।इस महल के निकट बनास डाई और खरी नदियों का त्रिकोण संगम है।इसके समीप गोकर्णेश्वर महादेव मंदिर,बीसलदेव का मंदिर पौराणिक एवं धार्मिक स्थल स्थित है।

सुनहरी कोठी:-

सुनहरी कोठी को नवाब बजीउद्दौला ने निर्मित करवाया था।
पहले यह कोठी शीशमहल के नाम से भी जानी जाती थी।

I  hope you have liked this post palaces of Rajasthan. in this post will cover rajasthan ki prachin sabhyataye and rajasthan ke parmukh smark, people also search rajasthan ke aabhushan and rajasthan ke kile list pdf download , I hope you have cleared your all doubts.

52
Created on

राजस्थान के प्रमुख महल

राजस्थान के प्रमुख महल के महत्वपूर्ण क्वेश्चन जो कम्पटीशन एग्जाम से महत्वपूर्ण सवाल है अभी Quiz 👇 को स्टार्ट करे

1 / 10

18जून, 1576 को कौनसा प्रसिद्ध युद्ध लड़ा गया ?

2 / 10

इनमें से कौनसा किला चिड़िया टूक पहाड़ी पर बना हुआ हैं ?

3 / 10

मिर्जा राजा जयसिंह का संबंध किस वंश से हैं ?

4 / 10

राजस्थान में चांदी के गोले दागने हेतु चर्चित दुर्ग कौन-सा हैं ?

5 / 10

राजस्थान में "बाला दुर्ग" किस जिले में स्थित हैं ?

6 / 10

राजा मानसिंह ने आमेर के महल का निर्माण कब करवाया था ?

7 / 10

पहले राजपूत राजा, जिसने अकबर की अजमेर यात्रा के दौरान अधीनता स्वीकार की ?

8 / 10

1207 ई. में किसने आमेर के मीणाओं को पराजित करके आमेर को कछवाहा की राजधानी बनाया ?

9 / 10

1576 ई. में हल्दीघाटी के युद्ध में अकबर की सेना का नेतृत्व किसने किया था ?

10 / 10

निम्न में से किसने पिछोला झील का निर्माण करवाया था ?

Your score is

The average score is 61%

0%

👉 हमारे व्हाट्सएप ग्रुप में शामिल होने के लिए यहां क्लिक करें :– Click Here

राजस्थान में वन सम्पदा Quiz Start :- Click Here

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*